CSKvsRCB दोनो टीमों की ताकत और कमजोरियों पर एक नज़र

CSKvsRCB दोनो टीमों की ताकत और कमजोरियों पर एक नज़र

CSKvsRCB दोनो टीमों की ताकत और कमजोरियों पर एक नज़र
CSKvsRCB दोनो टीमों की ताकत और कमजोरियों पर एक नज़र

आईपीएल का 12वाँ संस्करण आज शुरू होने वाला है चेन्नई सुपरकिंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के ओपनिंग मैच से, हालांकि दोनो टीमे इससे पहले भी 23 बार आईपीएल में आमने सामने हो चुकी है लेकिन ज्यादा दबदबा रहा है चेन्नई सुपरकिंग्स का, जिन्होंने 15 मैचों में जीत दर्ज की है वही रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खाते में सिर्फ 7 जीत ही दर्ज हो पाई है।

चेन्नई सुपरकिंग्स की ताकत और कमजोरियों पर एक नजर 

महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम हमेशा से ही दिन दोगुनी रात चौगुनी की है, चेन्नई ने अभी तक आईपीएल के कुल 10 संस्करण में हिस्सा लिया है, क्योंकि 2 साल इस टीम पर बैन रहा था। चलिये सबसे पहले बात करते है टीम की ताकत पर तो इनकीं बल्लेबाजी में वो दम है किसी भी गेंदबाजी आक्रमण को ये पल भर में पस्त कर सकते है, इस टीम में शेन वाटसन और अंबाती रायडू की शानदार ओपनिंग जोड़ी है जिन्होंने साल 2018 के आईपीएल में काफी शानदार प्रदर्शन किया था, खासकर वाटसन ने कमाल की बल्लेबाजी की थी, शेन ने 15 मैचों में 555 रन बनाए थे जिसमें 2 शतक और 2 अर्धशतक शामिल थे। इसके इलावा टीम की बल्लेबाजी ताकत है धोनी, केदार जाधव, सुरेश रैना, ब्रावो, जडेजा, अगर ये सब भी बढ़िया खेल गए तो समझ लीजिए चेन्नई एक और आईपीएल खिताब के नजदीक है

वही गेंदबाजी इस टीम की बड़ी कमजोरी लग रही है क्योंकि लुंगी नगिडी इस आईपीएल से बाहर हो चुके है ऐसे में दीपक चाहर, शार्दूल ठाकुर की गेंदबाजो कुछ खास नही लग रही, इसी वजह से इस टीम में आलराउंडर खिलाड़ियों से गेंदबाजी करवाना धोनी की मजबूरी होगी, बात करे रविंद्र जडेजा और इमरान ताहिर की तो इनका प्रदर्शन कुछ खास बढ़िया नही रहा है पिछले एक साल में। लेकिन कही ना कही चेन्नई की ताकतवर बल्लेबाजी, अपनी गेंदबाजी कमजोरी को ढकने का प्रयास जरूर करेगी।

CSKvsRCB दोनो टीमों की ताकत और कमजोरियों पर एक नज़र
CSKvsRCB दोनो टीमों की ताकत और कमजोरियों पर एक नज़र

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की ताकत और कमजोरियां

विराट कोहली के नेतृत्व में इस बार बेंगलुरु को उम्मीद है अपने पहले आईपीएल खिताब की, लेकिन इस टीम की किस्मत आईपीएल में खराब ही रही है, तीन बार आईपीएल फाइनल में पहुंचने के बावजूद भी इस टीम के हाथ खाली ही रहे है। चलिये बात करते है पहले इस टीम की ताकत के बारे में, कोहली, डिविलियर्स, स्टोनिस, क्लासेन और हेटमेयर जैसे धुरंधरो के साथ बेंगलुरु की टीम बल्लेबाजी में काफी मजबूत नज़र आ रही है, लेकिन इन प्लेयर्स को क्रीज़ पर काफी देर तक रुकना भी होगा ताकि स्कोरकार्ड तेजी से आगे बढ़ता रहे। कोहली और हेटमेयर ने वैसे ही काफी धमाल मचाया हुआ है क्रिकेट में

बात करे इस टीम की कमजोरी के बारे में तो इनकीं गेंदबाजी में भी दम नही है, उमेश यादव के पास अनुभव तो है तो लेकिन अगर एक दो गेंदो पर उन्हें चौके छक्के पड़ जाए तो उमेश बिखर जाते है अपनी गेंदबाजी में, वही मोहम्मद सिराज की गेंदबाजी तो वैसे ही बहुत साधारण है, मोइन अली, युजवेंद्र चहल और वाशिंगटन सुंदर टीम के लिए गेंदबाजी में कुछ बेहतर प्रदर्शन कर सकते है। लेकिन बेंगलुरु की सबसे बड़ी कमजोरी है इनकीं बल्लेबाजी एक दो बल्लेबाजों के आउट होने के बाद ताश के पतों की तरह बिखर जाती है।

इस टीम के पास है जीत का मौका

अगर बात करे दोनो टीमो में कौन जीत सकता है ये मैच तो यहाँ कागज़ों पर धोनी की टीम काफी आगे है, खासकर अगर चेन्नई क्रिकेट ग्राउंड की बात करे तो यहाँ दोनो टीमों ने कुल 7 मैच खेले है जिसमे 6 मैचों में चेन्नई तो एक मैच में बेंगलुरु को जीत मिली है। तो चेन्नई के यहाँ मैच जीतने के ज्यादा आसार है।